On-Page SEO क्या है और यह कैसे किया जाता है

यदि आपकी कोई website या blog है तो आप SEO के बारे में जानकारी ज़रूर रखते होंगे। SEO अर्थात Search Engine Optimization एक ऐसा तरीका है जिसकी मदद से आप अपने blog या website की search engine ranking को improve कर सकते हैं और search results को भी improve कर सकते हैं। 

आज के time में किसी भी field में competition बहुत ज़्यादा बढ़ चुका है और प्रत्येक व्यक्ति चाहता है की उसका product या service अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचे जिससे की बहुत सारे लोग उस product या service को इस्तेमाल कर सके। तो यही बात blog या website पर लागू होती है। यदि आपको अपने blog या website को search results में top पर दिखाना है तो आपको ज़रूरत होगी SEO की। 

यदि आप अपने blog या website में किसी भी प्रकार की post लिखते हैं तो आपको ज़रूरत होती है SEO की और आप अपनी post का SEO भी दो प्रकार से कर सकते हैं। पहला On-Page SEO है और दूसरा Off-Page SEO है। आज हम बताने वाले हैं On-Page SEO के बारे में की On-Page SEO क्या है और On-Page SEO कैसे करें। 


what-is-on-page-SEO



What is On-Page SEO and How to do On-Page SEO



On-Page SEO क्या है?

यदि आप WordPress इस्तेमाल करते हो या Blogger इस्तेमाल करते हो या कोई अन्य Blogging platform का इस्तेमाल करते हो इससे कोई फ़र्क नहीं पड़ता है। परन्तु जब आप post लिखते हो तो आपको post लिखते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए जैसे की post के title में आप keyword का इस्तेमाल करें, mete description को देना न भूले, अपनी post में Long Tail Keywords का इस्तेमाल करें, Internal Linking ज़रूर करें। 

इसके अलावा जब भी आप post लिखते हो तो यह आवश्यक है की आपकी post में लिखे हुए content की quality बेहतर होनी चाहिए जिससे की आपका लिखा हुआ content unique लगे। Meta tags को इस्तेमाल करना न भूले। अपनी post में topic से related keywords का ज़्यादा से ज़्यादा इस्तेमाल करें। यदि आप post लिखते समय इन सब बातों का ध्यान रखते हैं तो आप कहीं न कहीं On Page SEO कर रहें हैं। अर्थात यह कहा जा सकता है की अपनी Post में internal linking, long tail keywords, meta tags, meta description, important keywords, quality content आदि को सही तरीके से इस्तेमाल करने की प्रक्रिया को ही 'On-Page SEO' का नांम दिया गया है। यदि आप On-Page SEO को सही तरीके से करते हैं तो आपकी website या blog की search engine ranking में काफी ज़्यादा improvement देखने को मिलेगा। 


On-Page SEO कैसे करें?

On-Page SEO करना कोई कठिन काम नहीं है। इसे आप post लिखते समय आसानी से कर सकते हैं और अपने blog या website की Indexing को increase कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं की On-Page SEO कैसे किया जाता है?

1. Post Title

जब भी आप post लिखें तो यह अवश्य ध्यान दें की आपकी post के title में post के topic से related main keyword ज़रूर होना चाहिए। और हो सके तो main keyword को title के starting में ही लिखने का प्रयास करें। और post के title को unique बनाने का प्रयास कीजिए। यदि post के title में main keyword का इस्तेमाल किया जाता है तो इससे search engine को आपकी post को search करने में आसानी होती है। 

2. Permalink Structure

Post के title को अच्छे से समझने के बाद अब बारी आती है permalink की। आप जब किसी भी post को पढ़ने के लिए उस पर click करते हैं तो browser में एक link open हो जाता है उसे ही post का permalink कहते हैं। जैसे की 'techcrinz.com/on-page-seo-kya-hai' यह एक permalink है जो की browser के search box में open होता है। 

तो जब भी आप अपनी post के permalink को create करें तो यह ध्यान रखें की उस permalink में भी post का main keyword शामिल होना चाहिए। और permalink के size को ज़्यादा बड़ा न करें बल्कि permalink को कम words में ही लिखने का प्रयास करें। 

3. Sufficient Number of Words

यदि आप अपनी post को कम शब्दों में ही समाप्त कर देते हैं तो यह आपके blog या website के लिए नुकसानदायक हो सकता है। क्योंकि कम शब्दों वाली post को google या कोई भी दूसरा search egnine अधिक support नहीं करता है। और search engine उस post को search results में भी show नहीं करता है। 

तो यदि आप 500 से अधिक words की post लिखते हैं तो यह अच्छी बात है। परन्तु प्रयास यह करें की आपकी post अधिक से अधिक शब्दों की हो। जैसे की 1000 words की post या 1500 words की post या 2000 words की post लिख सकते हैं। क्योंकि google या अन्य search engines का algorithm ऐसे content को support करता है जिसमें अधिक से अधिक शब्द होते हैं। 

4. Meta Tags 

आपको अपनी post में meta tags का इस्तेमाल करना ही चाहिए। क्योंकि meta tags को जब आप लिखते हैं तो उसमें post से related main keywords आ जाते हैं और ranking के लिए बहुत ही अच्छा काम करते हैं। जैसे की जब आप meta description को लिखते हैं तो उसमें उपस्थित keywords blog या website की indexing, traffic, ranking, को increase करने में काफी ज़यादा help करते हैं।  

5. Quality Content

आपने देखा होगा की google में जब भी आप कुछ search करते हैं तो google आपके सामने जो results लेकर आता है वह google के top results में show हो रहें होते हैं। Top results में show होने वाली website में ऐसी कुछ तो ख़ास बात है जिससे की वह top results में दिखयी दे रही है। तो पहली खास बात यह हो सकती है की उस website का SEO बहुत ही ज़बरदस्त तरीके से हो रखा है और दूसरी खास बात यह हो सकती है की उस website में लिखा हुआ content बहुत ज़्यादा unique हो। 

तो आप जब भी post लिखें तो कोशिश करें की आपका content एकदम quality से भरा हुआ हो और unique हो। इससे आपकी post को search engine friendly होने में मदद मिलेगी। 

6. Proper use of Internal links and Outbound links 

आपको अपने blog या website की post में internal और outbound दोनों ही तरह की links का इस्तेमाल करना चाहिए। यदि आप अपनी ही website की किसी दूसरी post का link अपनी ही post में डाल देते हैं तो यह internal linking कहलाता है और यदि आप अपनी post में किसी अन्य website के link देते हैं तो यह outbound linking कहलाता है। 

7. Use of 'Long Tail Keywords'

अपनी post में आप post के topic से related keywords को add कर सकते हैं। जिन भी keywords को आप add करें तो यह ध्यान रखें की उन keywords की length अच्छी-खासी होनी चाहिए।

8. Post Image 

Image को अपनी post में इस्तेमाल करते समय आपको ध्यान रखना चाहिए की image का size अधिक न हो बल्कि कुछ kb का image ही इस्तेमाल करें। यदि image का size अधिक होगा तो वह page की speed पर बुरा effect डालता है। Image में Alt text और Title text का इस्तेमाल ज़रूर करें। 


On-Page SEO के फ़ायदे

On-Page SEO आपके blog या website को कई प्रकार से फायदा पहुँचाता है। तो आइए जानते हैं की On-Page SEO के इस्तेमाल से होने वाले महत्वपूर्ण फ़ायदे। 

1. इससे आपके blog या website की search engine ranking में सुधार होता है। 

2. यह आपके website या blog पर उपलब्ध content को search engine में अच्छे से index करने में मदद करता है। 

3. यह आपके blog को user friendly बनाने में help करता है। 

4. इसमें अच्छी quality के outbound links आपकी website या blog के लिए high quality backlinks प्रदान करते हैं। 


Post a Comment

0 Comments